तेजस्वी की हां राबड़ी की ना JDU ने दिया ये जवाब

पटना. बिहार में NRC नहीं लागू होने और NPR को 2010 के प्रावधानों के अनुसार लागू करने के प्रस्ताव को मंगलवार को विधानसभा में पारित कर दिया गया, लेकिन इस पर सियासत अब भी जारी है.राजद खेमा इसको अपनी जित बता रहा है तो जदयू इसको नितीश कुमार के संकल्प से जोड़ रही है. इस प्रस्ताव के पारित होने से पहले सीएम नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की मुलाकात के बहुत सियासी मायने निकाले जा रहे हैं. आरजेडी की नेता व बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि प्रस्ताव पारित होना राजद और कांग्रेस की जित है.

राजद को स्वीकार नहीं नितीश: तेजस्वी और नीतीश कुमार की मुलाकात पर राबड़ी देवी ने कहा कि मुख्यमंत्री से सबलोग मिलते रहते हैं, मैं भी नीतीश जी से मिली थी. लेकिन इसका यह मतलब नहीं CM नीतीश कुमार महाघठबंधन में आ रहे हैं राबड़ी देवी ने आगे कहा कि उनके मन में क्या चल रहा है यह नितीश कुमार को ही पता होगा लेकिन यह निश्चित है आरजेडी उन्हें स्वीकार नहीं करने वाली.

जेडीयू बोली- नीतीश को समझ पाना बहुत मुश्किल
इस बीच जेडीयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार जो कहते हैं वो करते हैं, यह इसका यह सबूत है. उन्होंने मांझी के ऑफ़र पर कहा कि नीतीश जी को समझने मे साथियों को भी और विरोधियों को भी समय लगता है.जदयू NDA गठबंधन में है और रहेगी महाघठबंधन में आने का कोई सवाल ही नहीं उठता।


Leave a Reply

%d bloggers like this: