मैदान में आने से पहले हार गए कन्हैया

27 फरवरी को जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के द्वारा पटना के गांधी मैदान में जनगण मन रैली का आयोजन किया जाने वाला है और कल ही बिहार विधान सभा में नितीश कुमार ने NRC को बिहार में नहीं लाने का सदन से प्रस्ताव को पारित कर दिया।कन्हैया कुमार पिछले एक महीने से NRC,NPR,CAA पर पुरे बिहार में जन-गण-मन यात्रा कर रहे हैं और जिस मुद्दे को लेकर वह लोगो को गाँधी मैदान बुला रहे हैं वह मुद्दा ही अब बिहार में नहीं रहा तो सवाल तो यह बनता है जो कन्हैया नितीश कुमार के लिए सर का दर्द बनते जा रहे थे उस कन्हैया कुमार को नितीश कुमार ने मैदान में आने से पहले ही हरा दिया।

कन्हैया कुमार देशद्रोही

अब कन्हैया कल के रैली में लोगो से संबोधन में क्या कहेंगे यह देखने का विषय होगा क्यों की बिहार में कन्हैया जिस मुद्दे को लेकर राजनीति कर रहे थे,वह मुद्दा ही अब बिहार से खत्म हो गया है.

कन्हैया कुमार नितीश और तेजस्वी के वोटबैंक को अंदर ही अंदर खोखला कर रहे थे और थर्ड फ्रंट बनाने की कोशिस में लगे थे लेकिन नितीश कुमार के इस फैसले से कन्हैया कुमार के उम्मीदों पर पानी फिर गया है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: