सरकारी कर्मचारियों को करना होगा ज्यादा घंटे काम और नहीं मिलेगी कोई भी छुट्टी,क्या है सच जाने।

corona case in india

कोविड-19 महामारी से दुनिया के ज्यादातर देश जूझ रहे हैं। भारत भी इन दिनों कोविड-19 के खिलाफ जंग लड़ रहा है। भारत में लॉकडाउन का तीसरा चरण शुक्रवार को घोषित कर दिया गया है। इस बीच तमाम तरह की अफवाहें भी सोशल मीडिया पर आग के तरह फैली हुई है।हाल में सोशल मीडिया पर एक मेसेज शेयर किया जा रहा है, जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने एक नए प्रोजेक्ट की शरुआत की है। इस अभियान का नाम है ‘राष्ट्रीय शिक्षित बेरोजगार योजना’ और इसके तहत लोगों को कोविड-19 के खिलाफ जंग के लिए 50,000 रुपये का भत्ता दिया जाएगा। आइए जानते हैं क्या है इस खबर के पीछे का सच-

प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर इस खबर को बेबुनियाद और महज एक अफवाह बताया है,और लोगों को इस तरह के अफवाह से दूर रहने को कहा है ट्वीट में लिखा गया, ‘दावाः सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षित बेरोजगार योजना शुरू की है, जिसमें सभी राशनकार्ड धारकों को 50,000 रुपये का रिलीफ फंड दिया जाएगा।

जानिए क्या लिखा है मेसेज में

मेसेज में www.rsby.org पर रजिस्टर करने के लिए कहा गया है। इस साइट को आप खोलेंगे तो आपको ऑनलाइन अप्लाइ का ऑप्शन नजर आएगा। इसमें आपसे नाम, पिता का नाम, इ-मेल, डेट ऑफ बर्थ, आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, पता, बैंक अकाउंट नंबर, आईएफएससी कोड, बैंक का नाम, मैरिटल स्टेटस और क्वॉलिफिकेशन भरने के साथ आपकी फोटो अपलोड करने के लिए कहा जाएगा। आपके सिग्नेचर वाली फोटो अपलोड करने के लिए भी कहा गया है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: