ट्रम्प जी भारत को क्या शिक्षा दे कर जाते है,भारत की अर्थ नीतियों का तो वे विरोध कर चुके हैं।

24 फरवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प दो दिनों के लिये भारत आने वाले है। डोनाल्ड ट्रम्प अहमदाबाद भी जाएंगे। जहाँ सुरक्षा व्यवस्था का खास तौर पर ख्याल रखा गया है। वही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस पर टिप्पणी करते हुए कहा कि “अब देखते है मोदी जी के परम मित्र डोनल ट्रम्प जी भारत को क्या शिक्षा दे कर जाते है।भारत की अर्थ नीतियों का तो वे विरोध कर चुके हैं।’’

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिगविजय सिंह ने कहा कि ,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर संविधान का पालन नहीं करने का आरोप लगाया और तंज कसते हुए कहा कि अब देखते हैं कि मोदी को उनके परम मित्र अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपने भारत दौरे के दौरान क्या शिक्षा देकर जाते हैं।

दिग्विजय ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर ‘बीबीसी.कॉम’ पर 20 फरवरी को प्रकाशित खबर को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘‘नागरिकता संशोधन कानून चिंताजनक : अमेरिकी आयोग – बीबीसी न्यूज हिंदी।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘(बराक) ओबोमा जी अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति, भारत के प्रधानमंत्री मोदी जी को (जनवरी 2015 में) संविधान का पालन करने का अनुरोध कर गये थे लेकिन ‘संपूर्ण राजनीतिक शास्त्र’ के ज्ञाता हमारे मोदी जी ने ठीक विपरीत काम किया।’’

लेकिन उनके दौरे से ठीक चार दिन पहले अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर नजर रखने वाली अमेरीकी एजेंसी ‘यूएससीआईआरएफ’ ने अपनी रिपोर्ट में भारत के सीएए और एनआरसी पर चिंता जताई थी, जो बीबीसी.कॉम हिंदी में प्रकाशित की गई थी। 

Leave a Reply

%d bloggers like this: