21 दिनों का लॉकडाउन तो तैयारी 3 महीनों की क्यों ?लंबे लॉकडाउन का इसारा तो नहीं है…

corona in india

दुनियाभर में तबाही मचा देने वाले कोरोना वायरस ने भारत में भी अपने पैर पसार लिए हैं. देश में इससे संक्रमित मरीजों की संख्या 650 पहुंच गई है. ऐसे में आज मोदी सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया है. लेकिन जिस तरह से पैकेज की सीमा तीन महीनों के लिए तय की गई है उससे यह कयास लगा जा रहा है कि 21 दिनों का लॉकडाउन का समय आगे भी बढ़ सकती है.

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या यह लॉकडाउन 21 दिन से ज्यादा होने वाला है?

लॉकडाउन की वजह घरों में जनता का बुरा हाल हो रहा है वहीं दुसरी ओर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर राहत पैकेज को लेकर हमालावर है.

इसी बीच गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहत पैकेज का ऐलान करते हुए 1.70 लाख करोड़ दिए हैं.

निर्मला सीतारमण ने इस दौरान महिलाओं के खाते में राशि, मुफ्त गैस सिलेंडर, किसानों को आर्थिक मदद, कर्मचारियों के ईपीएफ में मदद जैसे बड़े ऐलान किए, लेकिन इनमें सिर्फ एक ही चीज कॉमन थी वो ये कि हर चीज की तैयारी 3महीने के लिए की गई है.

21 दिनों से आगे बढ़ेगा लॉकडाउन?

जब पीएम मोदी ने देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन का ऐलान किया था दो अपने संबोधन में उन्होने देशवासियों से दो-तीन हफ्तों का समय मांगा था. पहले एक दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगाया गया, लेकिन 24मार्च को 21दिन का महाकर्फ्यू लगा दिया गया. यानी 14अप्रैल तक लोगों को अपने घरों में कैद रहना है.

लेकिन अब राहत पैकेज का तीन महीनों के लिए ऐलान करने से यह कयास लगाए जा रहे हैं कि सरकार आगे की तैयारियों को लेकर आगे बढ़ रही है. हालांकि, केंद्र सरकार ने इस बात की पुष्टि नहीं की है.

लेकिन जिस तरह देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही उससे यह प्रतीत हो रहा है कि सरकार इस लॉकडाउन को मई-जून तक के लिए आगे बढ़ा सकती है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: