क्या 9 मिनट लाइट ऑफ के दौरान हो जायेगा पावर ग्रिड फेल..!

powergrid

कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लोगों से 5 अप्रैल को 9 मिनट के लिए लाइट ऑफ कर लेने की अपील के मद्देनजर पश्चिम बंगाल विद्युत विभाग ने बिजली खपत में उतार-चढ़ाव के कारण ग्रिड के फेल होने की आशंका से बैकअप आपूर्ति व्यवस्था तैयार करने का निर्णय लिया है।

मोदी ने शुक्रवार को लोगों से कोरोना वायरस (Corona virus) को हराने के सामूहिक निश्चय को प्रकट करने के लिए पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए अपने घरों की लाइट ऑफ करके दीए, मोमबत्तियां और मोबाइल फोन जलाने की अपील की थी।

पश्चिम बंगाल के विद्युत मंत्री सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने कहा, मेरी अपने अधिकरियों एवं इंजीनियरों से बातचीत हुई थी। हमारा विभाग कल रात इस कार्यक्रम के मद्देनजर किसी किसी दिक्कत की स्थिति के लिए बैकअप पावर आपूर्ति श्रृंखला को तैयार रखने के लिए काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि वैसे तो विद्युत तंत्र नेशनल ग्रिड से जुड़ा है और एक ही समय विद्युत खपत में विसंगति से फेल हो सकता है लेकिन हमारे पास बैकअप व्यवस्था है जिसे सक्रिय कर दिया गया जाएगा ताकि कोई मुश्किल न हो।

बिजली मंत्रालय का खंडन : दूसरी ओर, सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट तक बिजली बंद करने से बिजली ग्रिड की स्थिरता को लेकर जताई जा रही आशंका को खारिज किया है। मंत्रालय का कहना है कि यह अपील घरों में थोड़े समय के लिए रोशनी बंद करके दिए आदि की रोशनी करने के लिए है और ऐसे में बाकी कामों के लिए बिजली की खपत बनी रहेगी।बिजली मंत्रालय ने शनिवार को एक बयान में कहा कि देश की बिजली ग्रिड व्यवस्था मजबूत है और मांग में अंतर की स्थिति से निपटने के लिये पर्याप्त उपाय किए गए हैं। बिजली सचिव संजीव नंद सहाय ने प्रधानमंत्री की अपील के बारे में राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के प्रधान सचिवों/बिजली सचिव को पत्र लिखा है।
इसमें कहा गया है कि नेशनल लोड डिस्पैच सेंटर ने उस दौरान ग्रिड के संतुलन के लिए उपाय किए हैं और वे इस बारे में रिजनल और राज्य लोड डिस्पैच सेंटरों को अलग से सूचना दे रहे हैं। प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को देश के नाम अपने संदेश में पांच अप्रैल को रात नौ बजे नौ मिनट तक बिजली बंद करने और दीया जलाकर, टार्च या मोबाइल से रोशनी करने की अपील की।

Leave a Reply

%d bloggers like this: