कन्हैया की यात्रा के पीछे आखिर कौन है

kanhiya jan gan man yatra

कन्हैया कुमार की जन-गण-मन यात्रा कोई साधारण यात्रा नहीं है बल्कि इसके पीछे कहीं न कहीं कोई बड़ा चेहरा छुपा हुआ और जरूर कोई प्रभावशाली राजनीतिक ताकत इस यात्रा को पर्दे के पीछे से नियंत्रित कर रही है।

सवाल यह उठता है वह राजनीतिक ताकत कौन हो सकती है?क्यों की कन्हैया कम्यूनिस्ट पार्टी से ताल्लुक रखते हैं, लेकिन कम्यूनिस्ट पार्टी इतनी ताकतवर नहीं जो राज्य में कन्हैया की यात्रा को इतना सफल बना सके। बीजेपी और जेडीयू के खिलाफ तो कन्हैया मोर्चा ही खोले हुए हैं, इसलिए उधर से सहयोग की कोई गुंजाइश नहीं।आरजेडी कन्हैया के उदय को तेजस्वी के लिए खतरा मानता है तो उसके सहयोग का सवाल ही नहीं तो फिर कौन हो सकता है?

कन्हैया की यात्रा के पीछे कांग्रेस राजनीतिक विशेषज्ञ का मानना है की कन्हैया की यात्रा के पीछे कांग्रेस हो सकती है। लंबे वक्त से कांग्रेस बिहार में आरजेडी की छाया से बाहर निकल कर अपने वजूद को जिंदा करना चाहती है, लेकिन उसकी मुश्किल यह है कि राज्य में उसके पास कोई डायनामिक चेहरा नहीं है। कन्हैया कुमार से उसे दो फायदे हो सकते हैं। एक तो डायनामिक चेहरा और दूसरा कन्हैया अपर कास्ट से ताल्लुक रखते हैं, जिसके जरिए कांग्रेस शुरू से राजनीतिक सर्वाइवल देखती है क्योंकि आरजेडी-जेडीयू के रहते ओबीसी में उसके लिए स्पेस बन पाना मुश्किल है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: