सिर्फ इनसान गलत नहीं होते, वक्‍त भी गलत हो सकता है।इरफान खान के 9 बेहतरीन डायलॉग्‍स-

imraan khan dialogues

अभिनेता इरफान खान का मुंबई के एक अस्पाताल में बुधवार को निधन हो गया। वह 54 साल के थे और लंबे समय से एक दुलर्भ किस्म के कैंसर से जंग लड़ रहे थे। इरफान को 2018 में न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर हुआ था। उनके परिवार में पत्नी सुतापा और दो बेटे बाबिल और अयान हैं। इरफान खान के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत कई राजनेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

 इरफान की आंखें जितना बोलती थीं, उनकी डायलॉग डिलीवरी भी उतनी कमाल की थी। हम पेश करते हैं इरफान खान के 9 बेहतरीन डायलॉग्‍स

हैदर: आप जिस्म हैं, मैं रूह… आप फानी, मैं लाफानी।

करीब-करीब सिंगल: कुल तीन बार इश्‍क किया, और तीनों बार ऐसा इश्‍क मतलब जानलेवा इश्‍क किया।

गुंडे: पिस्तौल की गोली और लौंडिया की बोली जब चलती है, तो जान दोनों में ही खतरे में होती है।

पान सिंह तोमर: बीहड़ में तो बागी होते हैं, डकैत मिलते हैं पार्लियामेंट में’।

लाइफ इन ए मेट्रो: ये शहर हमें जितना देता है उससे कहीं ज्यादा ले लेता है।

साहिब बीवी और गैंगस्टर: हमारी तो गाली पर भी ताली पड़ती है और हमें आज भी राजा भैया बुलाया जाता है।

जज्बा: मोहब्बत है इसलिए जाने दिया, जिद होती तो बाहों में होती।

डी-डे: सिर्फ इनसान गलत नहीं होते, वक्‍त भी गलत हो सकता है।

पीकू: डेथ और शिट किसी को, कहीं भी, कभी भी आ सकती है

Leave a Reply

%d bloggers like this: