अब बिना गारंटी ही 3 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा

nirmala sitarraman msme

नई दिल्ली। भारत में 2 हजार से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना के आगोश में जाने से हो चुका है जबकि कुल संक्रमितों का आंकड़ा 43 लाख 24 हजार से ज्यादा पर पहुंच चुका है। पूरे विश्व में 15 लाख 71 हजार से ज्यादा ऐसे भी बहादुर मरीज हैं, जो कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए हैं। कोरोना से जुड़ी हर जानकारी…-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस कॉन्फ्रेंस

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि छोटे और मझौले उद्योगों को बैंक व गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं के जरिए बकाया लोन का 20% लोन ले सकेंगे आपात क्रेडिट लाइन के तहत. 20 हज़ार करोड़ का प्रावधान किया गया है. इससे 2 लाख कुटीर उद्योगों को लाभ मिलेगा. इसमें NPA और तनाव झेल रहे MSME लाभान्वित होंगे. अच्छा कर रहे MSME जो विस्तार करना चाहते हैं वो फंड्स ऑफ फण्ड के जरिए 50 हज़ार करोड़ का लाभ ले सकेंगे.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सूक्ष्म लघु एवं मझोले उद्यमों (एमएसमई) के बिना गारंटी के स्वचालित तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया जाएगा. इससे 45 लाख एमएसएमई इकाइयों को लाभ होगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि एक साल तक मूल धन नहीं चुकाना होगा. 45 लाख MSME यूनिट को इसका फायदा होगा. जिन्होंने लोन नहीं चुकाए हैं, उन्हें भी लोन दिया जाएगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि 6 मेजर स्टेप MSME के लिए उठाए जा रहे हैं. MSME को 3 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि गरीबों की लगातार मदद की जा रही है. उन्होंने कहा 18 हजार करोड़ के खाद्दान दिए गए.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि पीएम ने 5 आधार सतम्भ बताए हैं. हमारा ध्यान होगा- लैंड, लेबर, लिक्विडिटी और लॉ पर. लोकल ब्रांड बनाने और उन्हें ग्लोबल बनाने व अंतरराष्ट्रीय सप्लाई चेन में शामिल करने पर जोर होगा.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि समाज के कई वर्गों के साथ व्यापक विचार-विमर्श करने के बाद पीएम ने एक व्यापक दृष्टिकोण को आपके सामने रखा है.

  • 45 लाख एमएसएमई यूनिट्‍स को मिलेगा लाभ।
  • 100 करोड़ वाली एमएसएमई यूनिट को मिलेगी लोन में राहत।
  • एमएसएमई को ईएमआई में राहत। पहले साल मूल धन नहीं चुकाना होगा। 4 साल के लिए मिलेगा लोन।
  • एमएसएमई के लिए 6 नए कदम उठाएंगे।
  • 3 लाख करोड़ का बिना गारंटी का लोन एमएसएमई को दिया जाएगा।
  • गरीबों और मजदूरों को पैसे और राशन की मदद की।
  • 18 हजार करोड़ के खाद्यान्न बांटे गए।
  • लॉकडाउन के बाद ही गरीब कल्याण योजना का एलान।
  • देश में पीपीई और वेंटिलेटर का निर्माण हो रहा है।
  • पीएम आवास योजना, उज्जवला योजना के माध्यम से गरीबों को मदद पहुंचाई।
  • गरीबों की लगातार मदद हो रही है।
  • लोकल ब्रांड को ग्लोबल बनाना है।
  • लैंड, लेबर और लिक्विडी पर जोर।
  • हमारा जोर आत्मनिर्भरता पर।
  • पैकेज देश की ग्रोथ के लिए।
  • प्रधानमंत्री ने अपना विजन रखा-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Leave a Reply

%d bloggers like this: