YES Bank के बर्बाद होने की यह है मुख्य वजह

इन 3 डिफाल्टरों ने येस बैंक को डुबोया : येस बैंक जो सफलता की ऊंचाईयां तय करता जा रहा, यकायक उसकी स्पीड पर ब्रैक लग गया क्योंकि जिन बड़े लोगों को उसने कर्ज दिया था, वह वापस नहीं लौटा रहे थे। बैंक ने उन लोगों को भरपूर पैसा दे डाला जो डूब रहे थे। कैफे कॉफी डे ग्रुप के मालिक ने कर्ज के कारण आत्महत्या कर ली जबकि जेट एयरवेज के मालिक नरेश मित्तल ने जेट एयरवेज के पहियों को जाम कर डाला। बैंक के तीसरे बड़े डिफॉल्टर अनिल अंबानी हैं, जिनकी कंपनी भी नष्ट होने के कगार पर है। ये सभी अरबों का कर्ज डकार गए। इनके अलावा बैंक ने दीवान फायनेंस, डीएचएलएफ, सीजी पावर, कॉक्स एंड किंग्स को भी बड़ा लोन दिया था।

आरबीआई ने संस्थापक राणा कपूर को हटाया : 2018 के बाद से रिजर्व बैंक ने येस बैंक पर शिकंजा कसना शुरू किया, क्योंकि उसे महसूस हुआ कि बैंक बैलेंस शीट में गड़बड़ी कर रहा है। आरबीआई ने बैंक के संस्थापक राणा कपूर को चेयरमैन पद से हटा दिया। देश में यह पहला ऐसा प्रसंग था, जब आरबीआई ने किसी बैंक के चेयरमैन को हटाया हो। यही नहीं, आरबीआई ने कई पाबंदियां भी लगा दीं।

राणा कपूर पर मनीलांड्रिंग का केस दर्ज : येस बैंक के फेल होने के बाद मचे तूफान के बीच देर रात प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने बैंक संस्थापक राणा कपूर के खिलाफ मनीलॉंड्रिंग का केस दर्ज किया है। ईडी की टीम ने राणा के मुंबई के वर्ली स्थित उनके घर ‘समुद्र महल’ पर छापा मारा है।

ईएमआई पर नहीं होगा असर : जो लोग येस बैंक डूबने के कारण परेशान हैं, उनके लिए कुछ राहत भी है। जिन लोगों ने कर्ज ले रखा है और उनकी ईएमआई येस बैंक से जाती है, वह जारी रहेगी। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बैंक का 30 दिन में पुनर्गठन कर लिया जाएगा। लोन बांटने में जो लापरवाही हुई, उसकी जांच की जाएगी।

बैक खाताधारी परेशान : येस बैंक में जिन लोगों ने फिक्स डिपॉजिट की हुआ है, उनकी हालत खराब है। लोगों का कहना है कि फिक्स डिपॉजिट के ब्याज से जो पैसा आता था, उससे उनका घर चलता था लेकिन बैंक ने अब बेघर कर दिया है। एक ने कहा कि हमारा जीवनभर का कैल्कुलेशन ही बैंक ने फेल कर दिया। डूबतों को बैंक कर्ज देने से बचता तो आज यह हालत नहीं होती…

राणा कपूर पर आरोप है कि निजी रिश्तों को ध्यान में रखकर उन्होंने यस बैंक से लोन बांटे। छापेमारी के दौरान ईडी ने यस बैंक (Yes Bank) से जुड़े दस्तावेजों को खंगाला। हालांकि ईडी की तरफ से इस छापेमारी को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। रिपोर्ट के मुताबिक राणा कपूर को लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। यानी राणा कपूर जांच पूरी होने तक देश से बाहर नहीं जा पाएंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: