17 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं, इस पर स्पष्ट किया केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

lockdown news

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को कहा कि हम कोरोना वायरस से बहुत बुरी तरह से प्रभावित अन्य विकसित देशों जैसी स्थिति होने की उम्मीद नहीं करते हैं, फिर भी हमने भारत को सबसे खराब स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रखा है।

एक कार्यक्रम में हर्षवर्धन ने लॉकडाउन आगे बढ़ाने के सवाल पर कहा कि कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन आगे बढ़ेगा भी या नहीं, ये कई चीजों को देखने के बाद तय किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसे लेकर प्रधानमंत्री सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर रहे हैं।

उनके साथ लगातार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर रहे हैं। मुख्यमंत्रियों द्वारा राज्यों का विश्लेषण जब पीएम के पास पहुंचेगा तो इस बारे में वह एक्सपर्ट्स से राय लेंगे।

हर्षवर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए, पूर्वोत्तर राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत के दौरान कोरोना वायरस संकट को दूर करने के लिए शमन प्रयासों पर कहा कि देश में मृत्यु दर लगभग 3.3 प्रतिशत है और कोरोना वायरस रोगियों के ठीक होने की दर 29.9 प्रतिशत तक पहुंच गई है और बहुत अच्छे संकेत हैं।

हर्षवर्धन ने कहा, “पिछले तीन दिनों से मामलों के दोगुना होने की दर लगभग 11 दिन रही है। पिछले सात दिनों से मामलों को दोगुना होने की दर 9.9 दिन रही है और पिछले 14 दिनों में यह आज 10.7 है .. हम अन्य विकसित देशों की तरह भारत के लिए सबसे खराब स्थिति होने का अनुमान नहीं करते हैं, फिर भी हमने पूरे देश को सबसे खराब स्थिति के लिए तैयार रखा है।”

गौरतलब है कि स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल द्वारा की गई प्रेस वार्ता में दिए गए बयान के बाद स्वास्थ्य मंत्री की यह टिप्पणी आई है। अग्रवाल ने कहा था कि हमें वायरस के साथ जीना सीखना होगा।

हर्षवर्धन ने कहा कि वर्तमान में 843 अस्पताल कोरोना रोगियों के उपचार के लिए विशेष रूप से समर्पित हैं, जिनमें लगभग 1,65,991 बेड हैं। उन्होंने कहा कि देश भर में कोरोना मरीजों को समर्पित 1,991 स्वास्थ्य केंद्र हैं, जिनमें 1,35,643 बेड हैं। इनमें आइसोलेशन के साथ-साथ आईसीयू बेड भी शामिल हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: