नीतीश कुमार के साथ जीतनराम मांझी लड़ेंगे चुनाव जल्द ही महागठबंधन से बाहर आएँगे

वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने आरोप लगाया है कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी दबाव की राजनीति कर रहे हैं। उनका मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलना इसी राजनीति का हिस्सा है। कहा, हमारी पार्टी महागठबंधन के साथ है। साथ ही मुकेश ने यह भी कहा कि तेजस्वी यादव बताएं कि महागठबंधन जीता तो वह मुख्यमंत्री बनेंगे तो उपमुख्यमंत्री कौन होगा?इस बयान से कहीं न कहीं मुकेश सहनी के उपमुख्यमंत्री बनने का सपना दिख रहा है.


मुकेश सहनी ने गुरुवार को कहा कि इस तरह की बात उठाकर जीतनराम मांझी जनाधार खोते जा रहे हैं। कांग्रेस व राजद में से कोई भी पार्टी उनसे बात नहीं करती है। ऐसे में नीतीश से मिलकर वह दबाव की राजनीति कर रहे रहे हैं। नीतीश कुमार को भी लोजपा को दिखाने का मौका मिल गया। महागठबंधन एकजुट है। समन्वय समिति भी बनेगी, लेकिन कांग्रेस को आगे आना होगा। महागठबंधन ही एनडीए का विकल्प है। हम लोग इसका विस्तार भी करेंगे। कुछ सीटों पर बसपा और माले से भी बात हो सकती है। जिसका जितना अधिकार है, महागठबंधन में मिलेगा। किसी को बाहर भी नहीं किया जाएगा, लेकिन कोई जाना चाहेगा तो उसे कौन रोकेगा। 
 

Leave a Reply

%d bloggers like this: